DP Charges: स्टॉक ब्रोकर द्वारा लिया जाने वाला DP चार्ज

DP Charges: स्टॉक ब्रोकर्स द्वारा लिया जाने वाला DP Charge

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम लोग हमारे ब्रोकर्स द्वारा लिए जाने वाले चार्जेस में से एक, DP Charge के बारे मे विस्तार से जानने का प्रयास करेगे l कुछ समय पहले तक इस चार्ज के बारे में कोई बात नहीं करता था और यह चार्ज हिडेन(छुपा)रहता था लेकिन आज कल DP चार्ज के बारे में काफी बात की जाती है और इसके बारे में आपको अपने ब्रोकर के प्लेटफॉर्म पर भी कुछ जानकारी मिल जाएगी l शुरुवाती दिनों में मुझे और मेरे दोस्तों को समझ ही नहीं आता था कि किसी स्टॉक को प्रॉफ़िट में बेंचने के बाद भी हमने नुकसान क्यूँ हो जाता था l ऐसा इसलिए होता था दोस्तों क्यूकी हमारे प्रॉफ़िट से ज्यादा हमारे ब्रोकर द्वारा उस स्टॉक को बेंचने पर dp charge ले लिया जाता था 

मेरी गलती कोआप ना दोहराएँ इसलिए मैं आज यह पोस्ट लिख रहा हूँ l मुझे पूरा भरोसा है कि यह पोस्ट आपकी जानकारी में वृद्धि करेगा और आपके लिए लाभप्रद रहेगा l तो चलिये जानते हैं dp charge के बारे में l

DP Charge क्या है?

जब भी आप  अपने डिमैट अकाउंट से कोई स्टॉक को सेल करते हैं तब आपसे डीपी चार्ज लिया जाता है. डीपी चार्ज प्रति बेचे गए स्टॉक पर लिया जाता है आप कितनी क्वांटिटी में कोई स्टॉक बेच रहे हैं इस पर डीपी चार्ज निर्भर नहीं करता है. आप किसी स्टाक को किसी एक दिन चाहे एक शेयर बेंचते हैं या 100 शेयर,डीपी शुल्क हमेशा वही रहता है.यह चार्ज कॉन्ट्रैक्ट नोट में नहीं दिखता है.डीपी चार्ज आपको लेजर में दिखाई पड़ेगा.

DP Charge का पूरा नाम है;Depository Participant Charge.दोस्तों,Depository वह जगह होती है जहाँ हमारे Shares,जमा होते है lठीक उसी प्रकार जैसे हमारे पैसे हमारे बैंक अकाउंट में जमा रहते हैं l जब हम किसी Stock Broker के प्लेटफॉर्म से डिलेवरी(यानि शेयर खरीदने के बाद जब हमारी मर्ज़ी होगी तब हम बेंचगे) पर Shares Buy करते हैं,तो वर्तमान नियम के अनुसार वो Shares T+2 दिन बाद हमारे Demat अकाउंट में आ जाते है l Demat Account सिर्फ Depository द्वारा ही Open किया जा सकता है l

हमारे देश भारत में केवल दो ही Depository हैं, जो Demat Account  की सुविधा प्रदान करवाती हैं-

1.CDSL(Central Depository Services (India) Ltd)

2.NSDL(National Securities Depository Limited)

हम अपने देश में चाहे किसी भी Stock Broker के साथ अपना Demat Account खुलवाए,हमारा Demat Account उपर्युक्त दोनों Depository यानी CDSL या NSDL में से किसी एक में होगा l जब हम Shares खरीदते हैं, तो ये Shares इन्हीं दोनों Depository के Demat Account  में ही सुरक्षित रहते है,और जब हम अपने Demat Account  में Hold किए गए Shares को Sell करते है तो वे यही से Sell भी होते हैं l

दोस्तों  हमारे किसी शेयर के Buy करने के दिन से लेकर उस शेयर को Sell करने के दिन तक ये Shares इन्हीं दो Depository यानि CDSL और NSDL के Demat Account में होते हैं।

आप  जिस भी Stock Broker का प्रयोग अपने Shares को खरीदने या बेचने के लिए करते हैं,अगर वो भाग जाए या किन्ही करणों से बंद हो जाए तो आप सीधे CDSL या NSDL के  Demat Account से अपने  Shares को एक्सेस करके अपनी सारी होल्डिंग्स को देख सकते हैं l इस प्रकार से ये दोनों  Depository हमारे निवेश को सुरक्षित रखने का काम करते हैं,और इस सुविधा के लिए दोनों Depository हमसे कुछ शुल्क लेती  है;जिसे हम लोग DP Charge के नाम से जानते है l

DP Charges मे Depository के अलावा Broker भी चाहे तो कुछ शुल्क जोड़ कर हमसे ले सकते हैं, क्यूकि ब्रोकर को भी अपने Depository को कई तरह के शुल्क देने पड़ते हैं । अगर Broker का Brokerage Charge कम(जैसे की डिस्काउंट ब्रोकर्स) है,तो ऐसे Brokers,DP Charges के नाम पर अपने क्लाइंट्स से अक्सर कुछ शुल्क लेते है l

DP Charges के दो भाग होते है-

पहला चार्ज वह होता है जो Depository लेती है।

दूसरा चार्ज Broker का होता है जो अलग -अलग Brokers डिफ़्रेंट  एमाउंट  में लिया जाता हैं।

DP Charge कितना लगता है?

DP Charge तभी लगता है जब हम अपनी Holding यानी Demat से Shares बेंचते है l प्रत्येक कंपनी पर,प्रत्येक बेचने वाले दिन का CDSL 5.50 रु शुक्ल लेती है जबकी NSDL द्वारा 4.50 रू का शुल्क लिया जाता है l अर्थात् अगर आपका Demat Account ,CDSL के साथ है तो आपको एक कंपनी का शेयर एक दिन में बेचने पर CDSL को 5.50 रुपए का शुल्क देना पड़ेगा l यहाँ ध्यान रखने वाली बात यह है कि एक दिन में हम किसी कंपनी के एक शेयर  Sell करें ,एक हज़ार शेयर Sell करें या फिर एक लाख शेयर ,CDSL हमसे हर कंपनी के शेयर पर 5.50 रुपए का ही शुल्क लेगी lयही प्रक्रिया NSDL की भी है

दोस्तों, Depository के अलावा हर ब्रोकर के चार्ज अलग-अलग हो सकते हैं। तो चलिए कुछ ब्रोकर के Total DP Charge को देखा और समझा जाए l उदाहरण के लिए-

पहला- ZERODHA का DP Charge:

Zerodha क्यूंकी CDSL Depository के साथ demat account open करता  है इसलिए cdsl के 5.50 रुपए के अलावा zerodha द्वारा 8 रुपए का शुल्क dp charge के रूप मे लिया जाता है जो कुल मिलाकर 13.50 रुपए होता है जिस पर 18% GST लगने के उपरांत कुल 15.93 रुपए DP Charge के रूप में हमें चुकता करने पड़ते हैं l

दूसरा-Upstox का DP Charge:

Upstox भी क्यूंकी CDSL Depository के साथ demat account open करता  है इसलिए cdsl के 5.50 रुपए के अलावा Upstox द्वारा 13 रुपए का शुल्क dp charge के रूप में लिया जाता है जो कुल मिलाकर 18.50 रुपए होता है जिस पर 18% GST लगने के उपरांत कुल 21.83 रुपए DP Charge के रूप में हमें चुकता करने पड़ते हैं l

इस तरह से सभी स्टॉक ब्रोकर्स द्वारा हम से DP Charge के नाम पर कुछ ना कुछ शुल्क लिया जाता  है,जिसकी जानकारी आपको Demat Account Open करने  से  पहले कर लेनी चाहिए l

दोस्तों, कृपया इस पोस्ट को अपने  मित्रों और परिचितों के साथ कई सार्वजनिक प्लेटफार्मों पर साझा करें ताकि कई और लोग  लाभान्वित हो सकें और जानकारी के अभाव में उनको शेयर्स बेंचते समय हम लोगों के शुरुवाती दिनों की तरह नुकसान न उठाना पड़े।इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए और अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद!!!

FAQ

Q.DP का फूलफॉर्म क्या है?

ANS.Depository Participant

Q.ZERODHA का DP Charge कितना है?

ANS.15.93/-रुपए

Q.Upstox का DP Charge कितना है?

ANS.21.83/-रुपए

Rate this post

Leave a Comment