Dividend Of ITC | itc Dividend 2022 | कुछ कम कुछ ज्यादा क्यूँ?

दोस्तों ITC का dividend जिसकी Ex date 26 जुलाई 2022 थी,और dividend पेमेंट की date 26 जुलाई 2022 थी,का डिवीडेंट रुपए 6.25 प्रति शेयर के हिसाब से दिनांक 22 जुलाई 2022 से बैंक अकाउंट्स में क्रेडिट होना शुरू हो गया था l

दोस्तों इस पोस्ट को लिखने की प्रेरणा मुझे अपने यूट्यूब चैनल के एक itc के dividend वाले वीडियो के नीचे पूछे गए कॉमेंट से मिली, दरअसल सब्सक्राइबर ने जो कॉमेंट किया था वो इतना अच्छा था की मुझे उस बारे में सर्च करके यह पोस्ट लिखनी पड़ रही है,उनके कॉमेंट का स्क्रीन शॉट भी मैंने नीचे दे रखा है ।

जैसा की आप देख पा रहे होंगे कि Akash Dhar जी ने पूछा है, कि उनके पास ITC के दो शेयर्स थे, जिसके लिए उन्हें उनके बैंक अकाउंट में 13 रुपए प्राप्त हुए हैं।उनका सवाल है जब उनके पास दो ही शेयर्स थे और प्रति शेयर 6.25 रुपए के हिसाब से dividend का पेमेंट itc द्वारा हुआ है तो उन्हें 6.25×2=12.50/- रुपए का ही अमाउंट बैंक में क्रेडिट होना चाहिए था ,लेकिन उन्हें 12.50/- रुपए के स्थान पर 13/- रुपए का भुगतान क्यों हुआ यानी पचास पैसे(0.50 पैसे) ज्यादा क्यों मिले हैं?

दोस्तों,आज के इस संक्षिप्त पोस्ट के माध्यम से मैं आपको बताऊंगा और रियल उदाहरण द्वारा यह दिखाने की कोशिश करूंगा की उपर्युक्त केस में ऐसा क्यों हुआ यानी itc का dividend पचास पैसे ज्यादा क्यों आया या फिर कुछ लोगों का कुछ पैसे कम क्यूँ आया है ? अगर आपको भी यह जानने में रुचि है तो कृपया पोस्ट को अंत तक पढें; आपको सारी जानकारी मिल जाएगी l

नमस्कार दोस्तों, मैं वरुण सिंह आप सभी का आपके अपने ब्लॉग moneynestblog.com में हार्दिक स्वागत करता हूं,उम्मीद है आप सकुशल होंगे और अपने निवेश की लंबी यात्रा में नित नई बातें सीख कर खुद को अपडेट कर रहे होंगे।

तो चलिए अब आते हैं,अपने टॉपिक पर की ITC का dividend कुछ पैसा ज्यादा या कम क्यों आया है ? दोस्तों अपने सब्सक्राइबर के कॉमेंट को पढ़ने के बाद मैंने काफी रिसर्च किया और इस क्रम में मुझे उनके प्रश्न का उत्तर मिल गया। दरसल मित्रों इसका जवाब मुझे SEBI के एक सर्कुलर से मिला जिसका विषय था,Payment of dividend/interest rounded off to the nearest rupee यानी लाभांश/ब्याज का भुगतान निकटतम रुपये में पूर्णांकित किया गया । सेबी का यह सर्कुलर 4 जून 1997 का है।

दोस्तों सेबी के इस सर्कुलर में साफ शब्दों में लिखा है की,सेबी के ध्यान में ऐसे उदाहरण आए हैं कि शेयरधारकों को लाभांश का भुगतान और डिबेंचरधारकों को कंपनियों द्वारा ब्याज का भुगतान जिसमें रुपये का अंश शामिल है, को निकटतम रुपये में राउंड ऑफ (पूर्णांकित )नहीं किया गया है। यह कंपनी मामलों के विभाग द्वारा एक प्रेस नोट 5/94, दिनांक 27/7/94 में जारी केंद्र सरकार के निर्देश का उल्लंघन है, जिसमें शेयरधारकों को लाभांश का भुगतान और डिबेंचरधारकों को ब्याज का भुगतान 50 पैसे और उससे अधिक होने पर उस पैसे को निकटम रुपये में राउंड ऑफ (पूर्णांकित) किया जा सकता है और पचास पैसे से कम के अमाउंट (अंश) को वह अनदेखा कर सकता है। केंद्र सरकार के उक्त निर्देश का पालन किया जाना चाहिए।

दोस्तों यह तो हो गई थ्योरी की बात ,लेकिन आज कल लोग बिना प्रूफ कोई बात मानते कहां हैं;तो प्रूफ के लिए मैं आप लोगों के साथ कुछ रियल उदाहरण और स्क्रीन शॉट्स शेयर करने जा रहा हूं,जिसके माध्यम से आपको चीज़े और बेहतर रूप से समझ में आ जाएंगी।नीचे दिए स्क्रीन शॉट्स को देखिए l

उपर्युक स्क्रीन शॉट मेरे ITC शेयर्स के dividend का ही है।दरअसल मेरे एक demat अकाउंट में 642 जबकि दूसरे demat अकाउंट में मात्र 1 शेयर है इसीलिए दो बार क्रेडिट एंट्री शो हो रही हैं l

केस नंबर एक:आप देख रहे होंगे की 22 जुलाई 2022 को itc का डिवीडेंट एक कॉलम में 4013/-रुपए आया है जो की 642 शेयर्स का है,अगर आप गणना करेंगे तो यह अमाउंट 642×6.25=4012.50/- होता है लेकिन मेरे बैंक अकाउंट में राउंड ऑफ होकर 4013/- रुपए आया क्योंकि दशमलव के बाद 0.50 पैसा है जिसे निकटतम रुपए में राउंड ऑफ कर दिया गया है और कंडीशन यही है की अगर 0.50 पैसा या इससे ज्यादा अमाउंट हो तो उसे निकटतम रुपए में तब्दील कर दिया जाए।

केस नंबर दो:उपर्युक्त स्क्रीन शॉट में आप को 22 जुलाई 2022 को 6 रुपए भी क्रेडिट हुए दिख रहे होंगे,दरअसल यह भी ITC का dividend ही है।यह आप देख रहे होंगे की itc द्वारा घोषित 6.25/- रुपए से भी काम यानी 6 रुपए का ही dividend बैंक अकाउंट में आया है ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि यहां पर dividend दशमलव के बाद 0.25/-पैसा ही है इसलिए इसको निकटम रुपए में राउंड ऑफ करके 6/- रुपए ही एक शेयर का itc द्वारा बैंक में डिविडेंड के रूप में भेजा गया है यानी जब भी 0.50 पैसे से कम का अमाउंट होगा उसे इग्नोर (अनदेखा)कर दिया जाएगा।

दोस्तों और Akash Dhar जी अब मुझे पूरी उम्मीद है की आपको समझ आ गया होगा की पचास पैसे ज्यादा dividend क्यों बैंक अकाउंट में प्राप्त हुआ या जिन लोगों को कुछ पैसा कम या ज्यादा मिला है तो उसके पीछे कारण क्या था ! मैंने सेबी के इस सर्कुलर का स्क्रीन शॉट नीचे डाला हुआ है आप उसका अवलोकन कर सकते है।

दोस्तों आपको यह पोस्ट कैसी लगी? आप कॉमेंट करके बता सकते है।अगर आपको यह पोस्ट उपयोगी लगी हो तो आप इसको अपने मित्रों के साथ विभिन्न प्लेटफार्मों पर साझा कर सकते हैं।

इस पोस्ट में इतना ही मिलते है Next पोस्ट में नई जानकारी के साथ,इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए और अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद !!!!

Read More:WHAT IS ETF || ETF FOR INVESTING

Read More: Investing in Index Funds 

Open Account With Zerodha: CLICK HERE

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment